पेंशन भुगतान का सरलीकरण बैंक के माध्‍यम से

राज्‍य सरकार द्वारा पेंशन भुगतान की पूर्व प्रचलित प्रक्रियाओं के स्‍थान पर पूर्व प्रक्रिया का सरलीकरण करते हुए कोषागारों में सभी पेंशनरों का डाटा-बेस तैयार कर निम्‍न प्रकर से भुगतान की व्‍यवस्‍थायें की गयी हैं। बैंक के माध्‍यम से:- जो पेंशनर रू.2550/- से अधिक पेंशन पाते हैं, उन्‍हें कोषागार द्वारा उनके निकटतम राष्‍ट्रीकृत बैंक की शाखा से भुगतान की व्‍यवस्‍था की गई है। संबन्धित कोषागार द्वारा प्रत्‍येक माह उनको देय पेंशन तथा राहत इत्‍यादि का चेक,यदि एक बैंक से एक से अधिक पेंशनर पेंशन भुगतान प्राप्‍त करते है तो समस्‍त पेंशनरों का सामूहिक चेक कम्‍प्‍यूटर द्वारा तैयार कर बैंक को भेज दिया जाता है और बैंक द्वारा इन पेंशनरों के खाते में चेक के साथ संलग्‍न सूची के अनुसार पेंशन की धनराशि जमा कर दी जाती है और पेंशनर अपनी आवश्‍यकतानुसार अपने खाते से इस धनराशि का आहरण कर सकता है। इस योजना के अन्‍तर्गत भुगतान समय से हो जाता है और शासन द्वारा जब कभी राहत इत्‍यादि के आदेश किये जाते हैं, तो उसका भी भुगतान समय से हो जाता है। इस व्‍यवस्‍था के अन्‍तर्गत पेंशनर को बार-बार कोषागार जाने की आवश्‍यकता नहीं पड़ती है बस वर्ष में एक बार जीवित रहने के प्रमाण-पत्र हेतु माह नवम्‍बर में कोषागार में उपस्थित होना पड़ता है अथवा ऐसे किसी प्राधिकारी जिसे कोषागार द्वारा मान्‍यता दी जाय द्वारा  निर्धरित प्रारूप पर जीवित रहने का प्रमाण-पत्र प्रस्‍तुत करना होता है। शाशनादेश संख्या A1-27/दस-2010-11(1)/2008 दिनांक 29-01-2010 द्वारा जीवित प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने की तिथि को आंशिक रूप से परवर्तित कर प्रतिवर्ष 01 नवम्बर से 20 दिसम्बर कर दिया गया है |

डाउनलोड जीवन प्रमाण पत्र प्रोफार्मा